न्यूज़ पोर्टल में खबर अथवा विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें: फोन नंबर:- +917733090099, 9166655956 ईमेल:- crime24newsexpress@gmail.com
रिलेशनशिपलाइफस्टाइल

सेक्स और उम्र का क्या है नाता? नई स्टडी में सामने आई ये बात

सेक्स और उम्र का क्या है नाता? नई स्टडी में सामने आई ये बात

सेक्स और उम्र का क्या है नाता? नई स्टडी में सामने आई ये बात
सेक्स और उम्र का क्या है नाता? नई स्टडी में सामने आई ये बात  

शोधकर्ताओं का कहना है कि सेक्स करने से कई गंभीर बीमारियों का खतरा कम हो जाता है. सेक्स ना केवल शारीरिक संतुष्टि देता है बल्कि ये मूड को अच्छा करता है, इम्यून सिस्टम को बढ़ाता है, ब्लड प्रेशर को कंट्रोल में रखता है और दिल की बीमारियों से बचाता है, जिससे उम्र लंबी होती है. 

बुढ़ापा और लंबी उम्र इन दोनों चीजों पर किसी का बस नहीं है. हालांकि विज्ञान की मानें तो पढ़ना, एक्सरसाइज करना और हेल्दी खाने जैसी अच्छी आदतें आपकी जिंदगी के कुछ साल बढ़ा सकती हैं. एक सेहतमंद शरीर के लिए ये सारी चीजें जरूरी हैं लेकिन अब इस सूची में शोधकर्ताओं ने एक चीज और जोड़ दी है और वो है सेक्स.

न्यू इंग्लैंड रिसर्च इंस्टीट्यूट के शोधकर्ताओं ने सेक्स और दिल की बीमारियों को जोड़ते हुए एक स्टडी की है. ये स्टडी 65 साल से कम उम्र के 1,120 पुरुषों और महिलाओं पर की गई है. इस स्टडी के नतीजे 22 साल बाद आए हैं. स्टडी में इस बात का दावा किया गया है कि रोजाना सेक्स करने से दिल की बीमारियों का खतरा कम होता है.

स्टडी में कहा गया है कि एक्टिव सेक्स लाइफ से हार्ट अटैक आने के बाद भी जिंदा रहने की संभावना बढ़ जाती है. स्टडी के अनुसार, जिन लोगों ने हफ्ते में एक बार से ज्यादा सेक्स किया था, हार्ट अटैक आने के बाद उनके मरने की संभावना 27 फीसदी तक कम थी. वहीं कभी-कभी सेक्स करने वालों में ये संभावना सिर्फ 8 फीसदी तक कम थी.

स्टडी में इस बात को भी जरूरी बताया गया है कि सेक्स करने के पहले और बाद में आपका पार्टनर के साथ कितना लगाव रहता है.

स्टडी के अनुसार, हफ्ते में एक बार सेक्स करने से लंबी उम्र की संभावना 37 फीसदी तक बढ़ जाती है. यह पहली स्टडी नहीं है जिसमें सेक्स को लंबी उम्र से जोड़ा गया है. कुछ साल पहले अमेरिकन जर्नल ऑफ कार्डियोलॉजी में भी ऐसी ही स्टडी छपी थी.

अमेरिकन जर्नल ऑफ कार्डियोलॉजी में छपी स्टडी में बताया गया था कि जो पुरूष कम सेक्स करते हैं उनमें दिल की बीमारियों का खतरा बढ़ने के अलावा इरेक्टाइल डिसफंक्शन की दिक्कत भी बढ़ जाती है.

Related Articles

Back to top button
x

COVID-19

India
Confirmed: 31,484,605Deaths: 422,022