न्यूज़ पोर्टल में खबर अथवा विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें: फोन नंबर:- +917733090099, 9166655956 ईमेल:- crime24newsexpress@gmail.com
जयपुरराजस्थान

कटारिया-डोटासरा में जुबानी जंग:कटारिया बोले- डोटासरा को मंत्री पद से हटाकर उनके रिश्तेदारों के आरएएस सलेक्शन की जांच करवाएं; डोटासरा बोले- मेरी जांच करवा लीजिए, लेकिन कटारिया निंबाराम को राजस्थान लाएं

कटारिया-डोटासरा में जुबानी जंग:कटारिया बोले- डोटासरा को मंत्री पद से हटाकर उनके रिश्तेदारों के आरएएस सलेक्शन की जांच करवाएं; डोटासरा बोले- मेरी जांच करवा लीजिए, लेकिन कटारिया निंबाराम को राजस्थान लाएं

कटारिया-डोटासरा में जुबानी जंग:कटारिया बोले- डोटासरा को मंत्री पद से हटाकर उनके रिश्तेदारों के आरएएस सलेक्शन की जांच करवाएं; डोटासरा बोले- मेरी जांच करवा लीजिए, लेकिन कटारिया निंबाराम को राजस्थान लाएं ( एडिटर इन चीफ़ लोकेश वर्मा ) 
कटारिया-डोटासरा में जुबानी जंग:कटारिया बोले- डोटासरा को मंत्री पद से हटाकर उनके रिश्तेदारों के आरएएस सलेक्शन की जांच करवाएं; डोटासरा बोले- मेरी जांच करवा लीजिए, लेकिन कटारिया निंबाराम को राजस्थान लाएं                                   ( एडिटर इन चीफ़ लोकेश वर्मा )

आरएएस -2018 (राजस्थान एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस) परीक्षा के इंटरव्यू में शिक्षामंत्री गोविंद सिंह डोटासरा की पुत्रवधू की बहन और भाई के 80-80 अंक आने पर विवाद बढ़ता जा रहा है। इस मामले में जुबानी जंग जारी है। नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने मुख्यमंत्री से डोटासरा को मंत्री पद से हटाकर उनके रिश्तेदारों के आरएएस में चयन होने की जांच की मांग उठाई। उधर, कटारिया के बयान पर पलटवार करते हुए गोविंद सिंह डोटासरा ने बीवीजी घूसकांड में एसीबी की एफआईआर में आरोपी बनाए गए आरएसएस के क्षेत्रीय प्रचारक निंबाराम को राजस्थान लाने की चुनौती दी। नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने कहा- योग्य अभ्यर्थियों का सलेक्शन हो, इसलिए आरपीएससी का गठन किया गया था। डोटासरा के रिश्तेदारों के मामले से लोगों का आरपीएससी से भरोसा उठ गया है। आरपीएससी का कर्मचारी ट्रैप हुआ। इससे साफ हो गया है कि अंकों में गड़बड़ी होती है। एक ही परिवार के बच्चों के समान अंक आना चमत्कार है, क्योंकि दोनों एक बैच में भी नहीं थे। खास बात यह है कि दोनों के ​ही लिखित में 47 और 46 प्रतिशत अंक हैं। टॉपर रहे अभ्यर्थियों में से भी केवल 6 के ही 80 अंक आए हैं। इसलिए या तो यह चमत्कार है या फिर भ्रष्टाचार। शिक्षा मंत्री बताएं कि किन 300 बच्चों के 80 नंबर हैं। केवल टॉप 16 में से 6 के ही इतने नंबर हैं, जितने डोटासरा के रिश्तेदारों के आए हैं। मुख्यमंत्री इस पूरे मामले की स्वतंत्र जांच कराएं और जांच होने तक डोटासरा को शिक्षा मंत्री के पद से हटाएं।

डोटासरा बोले- मेरी जांच करवा लें

शिक्षा मंत्री और कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने कटारिया के बयान पर पलटवार करते हुए कहा- हम जब आरएसएस के खिलाफ सच्चाई की बात बालते हैं तो इन्हें मिर्ची लगती है। मिर्ची लगने की जरूरत नहीं है। मेरे किसी भी मामले में आप जांच करवा लीजिए। मैं उनके प्रदेश अध्यक्ष और कटारिया को न्योता देता हूं। वरना निंबाराम को यहां लाइए। राजस्थान में लाकर बताइए कि यह पुलिस के सामने निंबाराम आ गए। शर्म नहीं आती। किसान के बेटों से एलर्जी करते हो। किसान के बेटों की मार्कशीट्स को जांचते घूम रहे हो। खुद भ्रष्टाचार में आकंठ डूबे हुए लोग किस मुंह से बात कर रहे हो।

Related Articles

Back to top button
x

COVID-19

World
Confirmed: 0Deaths: 0